आनंद मंत्रालय (3)

box office

कई ऐसे लोग आपको वक्त आने पर पहचानते नहीं, जिनके जीवन में आपने कभी बहुत सकारात्मक भूमिका निभाई होगी और कई ऐसे लोग भी मिलते है, जिनसे आप दो मिनट भी नहीं मिलते, लेकिन वे आपको पहचानते है।

Read more...

baba

बात पुरानी है। सिंहस्थ के प्रभारी मंत्री ने कहा कि उज्जैन में व्यवस्था का जायजा लेने साथ-साथ चलेंगे। मुझे लगा कि अच्छा मौका है, सो चला गया। सोचा हींग-फिटकरी नहीं लग रही है, चलो ! अस्थायी सिंहस्थ नगरी देख लेंगे ! 

सबसे पहले हम एक आश्रम में गए। महामण्डलेश्वर अभी पधारे नहीं थे, लेकिन उनके स्टॉफ के लोग मौजूद थे। दो हाथी बंधे थे, जिन्हें संभालने के लिए वन विभाग के कर्मचारी तैनात थे। घोड़े भी थे। सेवक ने महामण्डलेश्वर के लिए बनी एसी ‘कुटिया’ बनाई गई थी, चमाचम। जिसमें आधुनिक शौचालय था, बाथटब भी लगा था। कार्पेट बिछा था। मंत्रीजी से महामण्डलेश्वर के ‘पीए’ ने शिकायत की - आश्रम के लिए जो प्लॉट मिला है, वह मुख्य सड़क से दो सौ मीटर अंदर है। यह ठीक नहीं। यह अपमान है।

Read more...

आनंद मंत्रालय (1)

Wine-Shop

प्रसिद्ध गणेश मंदिर के बरामदे में बैठकर बड़ा सुकून मिलता है। उस दिन पता नहीं क्या सूझा कि सुबह-सुबह मंदिर चला गया। दर्शन के बाद बरामदे की सीढ़ियों पर टिककर बैठ गया और आने-जाने वाले लोगों का मुआयना करने लगा। एक वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी अपनी पत्नी के साथ आए थे और बात कर रहे थे। गणेशजी की कृपा हुई, तो मनचाही पोस्टिंग मिल ही जाएगी। यहां  तो कमाई हो रही है और न ही शांति है। हे गणेशजी, मेरी प्रार्थना सुनना। चेहरे पर उदासी का भाव था।

Read more...

Search

मेरा ब्लॉग

blogerright

मेरी किताबें

  Cover

 buy-now-button-2

buy-now-button-1

 

मेरी पुरानी वेबसाईट

मेरा पता

Prakash Hindustani

FH-159, Scheme No. 54

Vijay Nagar, Indore 452 010 (M.P.) India

Mobile : + 91 9893051400

E:mail : prakashhindustani@gmail.com