Race-10

रेस-3 के अंत में बता दिया गया है कि रेस अभी खत्म नहीं हुई है, यह जारी रहेगी, लेकिन उस रेस में कौन कौन दौड़ेगा, यह राज रखा गया है। रहस्य, रोमांच, ट्विस्ट, नाच गाना, हीरो और हीरोइन दोनों का अंग-प्रदर्शन, डब्ल्यूडब्ल्यूई की तरह जैकलिन और डैसी शाह की कुश्ती, कार रेस, धूम की तरह बाइक रेस, 10 गाने, मिक्स मार्शल आट्र्स और न जाने क्या-क्या है? यह फिल्म थ्रीडी में भी है और अगर थ्रीडी में देखे, तो लगता है कि आप कोई वीडियो गेम का हिस्सा हैं।

Read more...

kala1 
रजनीकांत की फिल्म काला मुंबई की उस जगह की कहानी है, जहां कभी एशिया की सबसे बड़ी झोपड़पट्टी धारावी हुआ करती थी। (अब धारावी बदल चुकी है) . इस फिल्म में स्वच्छ भारत की तर्ज पर 'क्लीन एंड प्योर धारावी' तथा डिजिटल इंडिया की तर्ज पर डिजिटल धारावी  दिखाया गया है।  रजनीकांत तमिलनाडु से धारावी आकर बसे  डॉन कारीकरन बने हैं, जो फिल्म में काला के नाम से मशहूर हैं. कभी धारावी में सचमुच काला सेठ नामक डॉन हुआ करता था, जो गुड़वाला सेठ भी कहलाता था। 

Read more...

veere2
'वीरे दी वेडिंग' फिल्म कहती है कि अगर लड़के शालीनता की सीमा त्याग सकते हैं, तो लड़कियां क्यों नहीं? अगर लड़के गन्दी बात करते हैं तो लड़कियां क्यों नहीं? इस फिल्म में बोल्डनेस के नाम पर सिगरेट पीना, छोटे-छोटे कपड़े पहनना, अशालीन पार्टियां करना, बातचीत में गालियों का इस्तेमाल आदि है। समानता का युग है, इसलिए लड़कियां यह सब करती हैं। इन लड़कियां का किसी के लिए भी कोई उत्तरदायित्व नहीं है। 'बिंदास' लड़कियां !

Read more...

RZ-3

गाजी अटैक और नाम शबाना जैसी फिल्मों के ही आगे की कड़ी है राजी। कहानी फेविकोल नहीं, देशभक्ति के जोड़ से जुड़ी है। बार-बार ‘ऐ वतन, ऐ वतन आबाद रहे तू’ गाना गूंजता है, जो गुलजार ने लिखा है। मूल रूप से यह गाना पाकिस्तान आर्मी स्कूल के बच्चों पर फिल्माया गया है। उन बच्चों को गाना सिखाती है आलिया भट्ट, जो भारत से शादी कर पाकिस्तान गई है।

Read more...

Parmanu-5

राजी की तुलना में परमाणु देशप्रेम की असली कहानी लगती है। फिल्म में बहुत सारे झोल भी है, लेकिन यह बात फिल्म देखकर समझी जा सकती है कि दूसरे परमाणु विस्फोटों में भारत के ऊपर कितना दबाव रहा होगा। फिल्म में कुछ वास्तविक न्यूज रील भी जोड़ी गई है, जिससे विश्वसनीयता तो बढ़ती है, लेकिन कहीं-कहीं डॉक्युमेंट्री का भ्रम भी होता है।

Read more...

102-1

102 में अमिताभ ने तो जादू किया ही है, 75 साल के बूढ़े के रूप में ऋषि कपूर ने भी कम जादू नहीं किया। वास्तव में फिल्म के हीरो ऋषि कपूर ही हैं, जिनके आसपास पूरी कहानी घूमती है। ऋषि कपूर ने भी मौके को भुनाने में कसर नहीं छोड़ी। 27 साल बाद यह जोड़ी फिर पर्दे पर आई है और दर्शकों को मिली कमाल की कॉमेडी।

Read more...

Search

मेरा ब्लॉग

blogerright

मेरी किताबें

  Cover

 buy-now-button-2

buy-now-button-1

 

मेरी पुरानी वेबसाईट

मेरा पता

Prakash Hindustani

FH-159, Scheme No. 54

Vijay Nagar, Indore 452 010 (M.P.) India

Mobile : + 91 9893051400

E:mail : prakashhindustani@gmail.com