LIP-6

'विजुअल गाली!' फिल्म के प्रचार के लिए कलाकारों द्वारा दिए गए फोटोशूट।

‘लिपस्टिक अंडर माय बुरखा’ कैसी फिल्म होगी, इसका अंदाज उसे प्रचारित करने के लिए फिल्म की नायिकाओं की फूहड़ भावभंगिना वाले फोटोशूट काफी है। फिल्म को एक दर्जन से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय अवॉर्ड मिल चुके है। एक साल से भारत में इसका प्रदर्शन अटका पड़ा था। अब सेंसरबोर्ड ने ए सर्टिफिकेट देकर पास किया, तो इसे सिनेमाघर मुश्किल से मिल रहे है। भोपाल की हवाई मंजिल में रहने वाली चार महिलाओं की दमित इच्छाओं की कहानी है यह फिल्म। फिल्म से ज्यादा यह एक नाटक की तरह लगती है।

Read more...

JAGGA-2

रणबीर कपूर बॉलीवुड के पप्पू हैं। उनकी फिल्म जग्गा जासूस देखने की मिस्टेक गलती से भी न करना, वरना ‘सिर में हेडेक’ तय है। लगता है अनुराग बसु कपूर खानदान से कोई पुरानी दुश्मनी निकाल रहे हैं। तीन साल तक फिल्म अटकाई, रणबीर से पैसे भी लगवाए और रोल ऐसा दिया, जिसमें वह पूरी तरह ‘उल्लू का पट्ठा’ है। रणबीर और कैटरीना की जोड़ी लोगों को अजब प्रेम की गजब कहानी की याद दिलाती है, लेकिन इसमें ऐसा कुछ भी नहीं है। दोनों के निजी रिश्तों का असर भी इस फिल्म में है, जिसमें उनकी केमेस्ट्री ही गड़बड़ है। बची-खुची कसर कहानी और निर्देशन में पूरी कर दी। अनुराग बसु की मेहरबानी रही कि इस फिल्म में 29 गानें नहीं है, जैसी की अफवाह थी। फिल्म का हकला हीरो हर बात कहने के लिए अपने दिमाग के दाएं हिस्से का उपयोग करता है, जो रचनात्मक कामों के लिए है। हकलाहट से बचने के लिए वह हर संवाद गाकर बोलता है। उसकी देखादेखी हीरोइन भी गाकर डायलॉग बोलने लगती है। 5-10 मिनिट के ऐसे दृश्य झेले जा सकते थे पर पूरी फिल्म में यह सब झेल लेना कोई आसान नहीं।

Read more...

MOM-11

इंग्लिश-विंग्लिश के बाद मॉम श्रीदेवी की ऐसी फिल्म है, जिसकी कहानी श्रीदेवी के लिए ही लिखी गई है। श्रीदेवी जानती हैं कि उम्र के इस मोड़ पर उन्हें कैसी फिल्में करनी है। कई अभिनेत्रियां यह बात बुढ़ापे तक नहीं समझ पाती। एक स्कूल टीचर, एक मां और प्रतिशोध लेने वाली औरत के रूप में उन्होंने शानदार एक्टिंग की है। फिल्म में उनकी बेटी बनी पाकिस्तानी कलाकार सजल अली सचमुच में उनकी बेटी जैसी ही लगती है। नवाजुद्दीन सिद्दीकी ने भी प्राइवेट डिटेक्टिव डी.के. के रूप में अच्छा अभिनय किया है और क्राइम ब्रांच के अधिकारी बने अक्षय खन्ना ने भी अपने रोल के साथ न्याय किया है। बदले की कहानी पर बनी हुई फिल्में हिन्दी के दर्शक हमेशा से पसंद करते आए है। यह फिल्म भी दर्शकों को पसंद आएगी।

Read more...

Tubelight-2

ट्यूबलाइट मजेदार फिल्म है। आप इसे सपरिवार देख सकते हैं। 100-200 रुपए खर्च करके जब आप सिनेमाघर से बाहर निकलेंगे, तब आपमें सकारात्मकता का भाव होगा। आजकल की फिल्मों में यहीं तो नहीं होता। अपराधियों, तस्करों, गुण्डों, नेताओं, आवारा युवाओं पर फिल्में बनती है और समीक्षक बहुत सितारे बांटते हैं, लेकिन दर्शक को कुछ याद नहीं रहता। खलीज टाइम्स, गल्फ न्यूज और टाइम्स ऑफ इंडिया जैसे अखबारों ने इस फिल्म को इमोशन का ओवरडोज बताते हुए 2-3 स्टार ही दिए हैं। अंग्रेजी फिल्म समीक्षकों को फिल्म के क्रॉफ्ट से ज्यादा मतलब होता है, उसकी कहानी और इमोशन से नहीं। इसलिए अगर वे इसे दोयम फिल्म कहें, तो मान लीजिए कि यह फिल्म शानदार है।

Read more...

EK-HASEENA-1

इस साल के पूवार्ध की वाहियात फिल्मों में से एक है ‘एक हसीना थी, एक दीवाना था’। सुनील दर्शन इस फिल्म के निर्माता, निर्देशक, लेखक, स्क्रीप्ट राइटर आदि-आदि है और उनका छोरा शिव दर्शन इसका हीरो है। यह फिल्म दर्शकों के बजाय ‘दर्शनों’ के लिए है। तड़ीपार नदीम सेफी ने इसमें म्युजिक दिया है। जिन पर 1997 में गुलशन कुमार की हत्या का आरोपी होने का मामला था। श्रवण राठौर के साथ उनकी जोड़ी नदीम श्रवण ने अच्छे-अच्छे गाने दिए थे। वे संगीतकार अब भी अच्छे है और इस फिल्म का संगीत मधुर है। पलक मुछाल की आवाज भी इस फिल्म में है।

Read more...

Bank-1

फिल्म बैंक चोर विजय माल्या के बारे में नहीं है, न ही यह चौधरी या दूसरे बैंक चोरों के बारे में है। फिल्म का प्रचार जितने दिलचस्प तरीके से किया गया था, पूरी फिल्म वैसी दिलचस्प नहीं है। फिल्म का कुछ हिस्सा ही प्रहसनात्मक है और गुदगुदी पैदा करता है। रहस्य, रोमांच डालने के चक्कर में फिल्म की कॉमेडी पीछे रह जाती है। फिल्म देखने पर समझ में आता है कि कॉमेडियन कपिल शर्मा ने साइन करने के बाद भी चम्पक का रोल करने से क्यों मना कर दिया, जो बाद में रितेश देशमुख के मत्थे आया।

Read more...

Search

मेरा ब्लॉग

blogerright

मेरी किताबें

  Cover

 buy-now-button-2

buy-now-button-1

 

मेरी पुरानी वेबसाईट

मेरा पता

Prakash Hindustani

FH-159, Scheme No. 54

Vijay Nagar, Indore 452 010 (M.P.) India

Mobile : + 91 9893051400

E:mail : prakashhindustani@gmail.com