Bookmark and Share

Baaghi-2-6

दो साल पहले आई बागी फिल्म का यह सीक्वल एक्शन दृश्यों के लिए ही बनाया गया है। कहानी में भरपूर ट्विस्ट भी है और सस्पेंस भी। दर्शक पूरे समय कुर्सी से चिपक कर बैठा रहता है और हैरतअंगेज एक्शन दृश्य देखते हुए हॉलीवुड की रेंबो फिल्म को याद करता है। सिर्फ एक्शन से काम नहीं चलता, इसलिए दूसरे मसाले भी डाल दिए गए, जिसमें प्रमुख है माधुरी दीक्षित पर फिल्माया गया तेजाब फिल्म का सुपरहिट गाना ‘एक-दो-तीन’ का रिमिक्स जैकलिन फर्नांडीस पर फिल्माया गया है, लेकिन दर्शक यही कहते रहे कि माधुरी तो माधुरी है।

Baaghi-2-5

बॉलीवुड की फिल्मों के संविधान के अनुसार फिल्म में हीरोइन का होना जरूरी है, इसलिए दिशा पटानी को लिया गया है। शुरू में थोड़े बहुत रोमांटिक दृश्य और गाने ठूंस दिए गए और फिल्म को रोमांस से भरपूर बनाने की कोशिश की गई, लेकिन फिल्म में दर्शक की किस्मत में तो टाइगर श्राफ के एक्शन ही लिखे थे। कहानी के अनुसार उसे कमांडो भी बना दिया गया। अब कमांडो तो एक्शन करेगा ही। यह एक अकेला कमांडो ही पूरी फौज के बराबर हैं, जो यह कहता है कि थाने में जो तुमने मेरा टार्चर किया, वह तो मेरा वार्मअप है।

Baaghi-2-2

दिलचस्प बात यह है कि यह कमांडो जितनी एक्शन सीमा पर ड्यूटी के दौरान करता है, उससे ज्यादा एक्शन छुट्टी में गोवा में करता है। बीच में पुलिस थाने में सेना अधिकारियों द्वारा पुलिसवालों की पिटाई के दृश्य भी है, जिसे देखते ही इंदौर वालों के जेहन में पलासिया और विजय नगर थाने आ जाते है। जहां आर्मी के जवानों ने पुलिस वालों के साथ वैसा ही कुछ किया था, जैसा पुलिस वाले आम लोगों के साथ करते है। इंदौर में पुलिस वाले आर्मी वालों का कुछ नहीं कर पाए, ऐसे ही फिल्म में भी आर्मी के कमांडों का कुछ बिगड़ नहीं पाया।

Baaghi-2-3

फिल्म के निर्देशक एहमद खान ही इस फिल्म के लेखक, नृत्य संयोजक और न जाने क्या-क्या हैं? उन्हें लगा कि दर्शकों का वक्त जाया नहीं करना चाहिए, इसलिए अलग-अलग भूमिका में मनोज वाजपेयी, रणदीप हुड्डा, प्रतीक बब्बर, दर्शन कुमार, दीपक डोबरियाल आदि को भी ले आए। उन लोगों के लिए या तो पुलिस वाले की भूमिका थी या गुंडे की। फिर जैकलिन फर्नांडीस को मोहिनी बनाकर एक-दो-तीन गाने में ले आए, जिसमें कटआउट के दिलचस्प प्रयोग भी किए गए। भ्रष्ट पुलिस अधिकारियों को तो कई फिल्मों में दिखाया गया, लेकिन इसमें ऐसे भ्रष्ट पुलिस अधिकारी दिखाए गए है, जो न केवल समानांतर सरकार चलाते है, बल्कि समानांतर सेना भी रखते है और उनकी सेना में मशीन गन्स, एके-56, गोला-बारूद और यहां तक कि हेलीकाप्टरों का बेड़ा भी होता है, लेकिन वह सब किसी काम का नहीं, क्योंकि उससे निपटना के लिए तो हमारा एक हीरो ही काफी होता हैं।

Baaghi-2-1

फिल्म में हिंसा का अतिरेक से भी ज्यादा अतिरेक है। मार-पीट के कई दृश्य परेशान कर सकते है। थाने में टाइगर श्राफ को टार्जर देने के दृश्य भी वीभत्स की श्रेणी में रखे जा सकते है। गोवा, लद्दाख, चीन, मनाली और थाईलैंड में फिल्माए गए कुछ दृश्य मनोहारी लगते है। टाइटल सांग पलक मुछाल का है, जो सुमधुर है। दो साल पहले आई बागी में टाइगर के साथ श्रद्धा कपूर थी। इस फिल्म के लिए कृति सेनन भी चर्चा में थी, लेकिन अंत में दिशा पटानी (या पाटनी?) को लिया गया, जो ठीक ही किया गया। दिशा और टाइगर की जोड़ी दर्शकों को पसंद आई।

Baaghi-2-4

बागी 2 दक्षिण भारत की ब्लॉकबस्टर फिल्म क्षणम का रिमेक है। स्मिता पाटिल और राज बब्बर के बेटे प्रतीक ने इस फिल्म में वापसी की है, जो कि खलनायकी है। पिछले बागी की तुलना में ये बागी ज्यादा एक्शन पैक्ड है। फिल्म एक्शन पसंद करने वाले युवाओं के लिए बनाई गई है और वे इसे पसंद भी कर रहे हैं। अगर आपको फिल्मी पर्दे की मार-धाड़ पसंद है, तो यह फिल्म आपके लिए है।

Search

मेरा ब्लॉग

blogerright

मेरी किताबें

  Cover

 buy-now-button-2

buy-now-button-1

 

मेरी पुरानी वेबसाईट

मेरा पता

Prakash Hindustani

FH-159, Scheme No. 54

Vijay Nagar, Indore 452 010 (M.P.) India

Mobile : + 91 9893051400

E:mail : prakashhindustani@gmail.com