Bookmark and Share

SMD

कानून विशेषज्ञों का मानना है कि बच्चों के लिए कुछ मोबाइल ऐप बहुत ही खतरनाक है। अगर आपके करीबी किसी बच्चे ने ये ऐप अपने मोबाइल में अपलोड कर रखे हो, तो कोशिश कीजिए कि उन्हें डिलीट कर दिया जाए। संभावित परेशानी से बचने का यह अच्छा तरीका है। पुलिस का तो यह भी कहना है कि अपने बच्चों के मोबाइल की पड़ताल करते रहे और देखते रहे कि वे कौन से ऐप डाउनलोड कर रहे है। बच्चों के मोबाइल की प्राइवेसी सेटिंग की भी जांच करते रहे और फोन तथा उसके ऐप के इस्तेमाल के बारे में उनसे चर्चा करते रहे। पुलिस का कहना है कि बच्चों के मोबाइल में ये ऐप खतरनाक हो सकते है :

स्नैपचेट (SnapChat) : स्नैपचेट की विशेषता यह है कि कोई भी इससे फोटो और वीडियो ले सकता है और नए फीचर के जुड़ने के साथ ही पुराना फोटो या वीडियो उस मोबाइल में गायब हो सकता है, जबकि दूसरे के मोबाइल में यह देखा जा सकता है। इस ऐप की विशेषता यह है कि यहां कंटेंट के अलावा उपयोगकर्ता की लोकेशन भी देखी जा सकती है और यह भी देखा जा सकता है कि पिछले 24 घंटे में उपयोगकर्ता कहां-कहां रहा है।

किक (Kik) : किक ऐप के जरिये कोई भी आपको डायरेक्ट मैसेज दे सकता है और उस मैसेज की कोई सीमा नहीं है, भले ही आपके कान्टेक्ट लिस्ट में उसका नाम नहीं हो। इसके माध्यम से किसी के लिए भी अनलिमिटेड एक्सेस किसी भी समय संभव है।

येलो (Yellow) : यह ऐप यूजर को फ्लर्टिंग के लिए न केवल अनुमति देता है, बल्कि प्रेरित भी करता है। टिंडर की तरह ही यह ऐप भी सुरक्षित नहीं माना जा सकता।

होला (Holla) : इस ऐप के जरिये विश्व में कही भी वीडियो चैट संभव है। बच्चों के लिए यह सुविधाजनक नहीं है। इससे बच्चों की सुरक्षा कभी भी खतरे में पड़ सकती है।

ओमेगल (Omegle) : इस ऐप के माध्यम से किसी से भी चैटिंग संभव है और उसका कोई शुल्क नहीं है। खास बात यह है कि यह ऐप अनजान लोगों से चर्चा करने के लिए प्रेरित करता है।

बंबल (Bumble) : टिंडर की तरह ही यह भी एक डेटिंग ऐप है। इसमें पहले फीमेल यूजर को पहल करनी होती है। बच्चे इस ऐप का दुरुपयोग आसानी से कर सकते है।

विशबोन (Wishbone) : यह ऐप 2 फोटो के बीच आसानी से तुलना करके बता सकता है और उनकी रेटिंग भी कर सकता है। इसके उपयोग से बच्चे 2 लोगों में तुलना कर सकते है।

केल्कुलेटर (Calculator) : इस ऐप का उपयोग करके यूजर फोटो, वीडियो, फाइल और ब्राउजर हिस्टरी को छुपा सकता है।

आस्क.एफएम (Ask.Fm) : साइबर बुलीइंग के लिए यह ऐप कुख्यात है। इसके माध्यम से किसी भी अज्ञात व्यक्ति को संदेश भेजे जा सकते है और सवाल भी पूछे जा सकते है।

विस्पर (Whisper) : इस ऐप के माध्यम से ऐप के 2 उपभोगकर्ता अपने राज शेयर कर सकते है और एक-दूसरे की लोकेशन का पता लगाकर मिल भी सकते है।

बर्न बुक (Burn Book) : अफवाह फैलाने के लिए यह ऐप कुख्यात है। इसके माध्यम से टेक्स्ट ऑडियो या तस्वीरों को प्रचारित किया जा सकता है।

हॉट और नॉट (Hot or Not) : यह ऐप क्षेत्र विशेष के लोगों को खोजकर उनकी रेटिंग कर सकता है और चैट भी कर सकता है।

लाइव.मी (Live.me) : यह लाइव स्ट्रीमिंग ऐप है, जिससे आसानी से वीडियो शेयर किए जा सकते है और ब्रॉडकॉस्टर की लोकेशन भी पता की जा सकती है।

ये तो केवल कुछ उदाहरण है। कई और ऐप भी बाजार में है, जिनके बारे में पुलिस ने कोई चेतावनी नहीं दी है, हो सकता है वह ऐप पुलिस की निगाह में अभी तक आए नहीं हो।

Search

मेरा ब्लॉग

blogerright

मेरी किताबें

  Cover

 buy-now-button-2

buy-now-button-1

 

मेरी पुरानी वेबसाईट

मेरा पता

Prakash Hindustani

FH-159, Scheme No. 54

Vijay Nagar, Indore 452 010 (M.P.) India

Mobile : + 91 9893051400

E:mail : prakashhindustani@gmail.com