Namo 3

क्या प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का नमो ऐप खुद अफवाहें फैलाने का काम कर रहा है? ऐसे में फेक न्यूज से कैसे निपटा जा सकता है? वरिष्ठ पत्रकार समर्थ बंसल ने इस बारे में एक अध्ययन किया तो पाया कि नमो ऐप खुद ही अनेक ऐसी बातों को फैला रहा है, जिन्हें रोकने की जिम्मेदारी सरकार की होती है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम पर बना नमो ऐप 10 करोड़ से भी ज्यादा बार डाउनलोड किया जा चुका है। आरोप लगते रहे हैं कि नमो ऐप को डाउनलोड करने वालों का पूरा डाटा उनकी अनुमति के बिना जमा किया जा रहा है। उसका उपयोग डाटा संग्रहकर्ता अपने हित के लिए कर सकता है।

Read more...

webdunia

सोशल मीडिया के कई प्लेटफार्म उपलब्ध है, उनमें इंस्टाग्राम भी एक प्रमुख प्लेटफार्म है। जहां यूजर अपने फोटो और वीडियो किसी एक ग्रुप में या सभी के लिए खुलेआम शेयर कर सकता है। 9 साल पहले इंस्टाग्राम एक नि:शुल्क मोबाइल ऐप के रूप में शुरू किया गया था। दुनिया की तमाम हस्तियां अपनी तस्वीरें और वीडियो यहां शेयर करते है। इसमें लोकेशन भी शेयर की जा सकती है और हैशटैग भी जोड़े जा सकते है। इंस्टाग्राम पर सबसे ज्यादा जिस कंपनी का अकाउंट शेयर किया जा रहा है, वह इंस्टाग्राम खुद है। इंस्टाग्राम पर सबसे ज्यादा फॉलो किए जाने वाले अकाउंट रोनाल्डो, सेलेना गोमेज, एरियाना ग्रैंड, ड्वैन जॉनसन, किम कार्देशियां, काइली जेनर आदि है। इनमें भी किसी एक पोस्ट को सबसे ज्यादा लाइक्स का रिकॉर्ड काइली जेनर के नाम है, लेकिन अब वह रिकॉर्ड टूट गया है।

Read more...

webdunia24sept2018

गूगल के लिए रूस एक दुखती रग की तरह है। 2016 के अमेरिकी चुनाव में गूगल पर कई आरोप लगे थे और वे आरोप रूस से की गई कथित गतिविधियों के लिए लगे थे। रूस में गूगल के उतना बोलबाला नहीं है, जितना कि भारत में है। अब ताजा खबर यह है कि रूस की सबसे बड़ी आईटी कंपनी यांडेक्स ने रूस में एंड्रायड वाले मोबाइल फोन पर अपनी बढ़त बना ली है। यांडेक्स न केवल रूस का लोकप्रिय सर्च इंजन है, बल्कि वह कई मोर्चों पर गूगल को टक्कर भी दे रहा है।

Read more...

webdunia3sept2018

सोशल मीडिया के कुछ नए प्रभावशाली प्लेटफार्म भी उभर रहे है। अगर आप फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप आदि से ऊब गए हो, तो इन नए प्लेटफार्म का उपयोग कर सकते है। सोशल मीडिया पर आए दिन महत्वपूर्ण गतिविधियां होती रहती है और नए-नए खिलाड़ी मैदान में आते रहते है।

Read more...

webdunia10Sept18 

अमेरिका में इन दिनों हवा चल रही है कि फेसबुक ऐप को अपने मोबाइल से डिलीट कर दिया जाए। 44 प्रतिशत युवाओं ने अपने मोबाइल फोन से फेसबुक ऐप हटा दिया है। वे फेसबुक पर जुड़े तो है, लेकिन अपने कम्प्यूटर के जरिये, उन्हें लगता है कि फेसबुक ऐप मोबाइल के जरिये जासूसी कर रहा है। कैम्ब्रिज एनेलिटिका कांड के बाद अमेरिकी युवाओं में फेसबुक के प्रति अविश्वास बढ़ता जा रहा है। इसी के साथ 18 से 49 साल की उम्र के अधिकांश अमेरिकी फेसबुक यूजर्स ने अपने मोबाइल की प्राइवेट सेटिंग में जाकर अपनी निजता को बचाने की कोशिश की है। यह आंकड़ा एक वर्ष का है।

Read more...

web-27-8-18

फेसबुक पर राजनीतिक विज्ञापनों के लिए प्रोपब्लिका नाम की एक कंपनी ने नए-नए टुल्स ईजाद किए है। इसका उद्देश्य ही है, फेसबुक पर लोगों की रूचि के अनुसार राजनैतिक विज्ञापनों को पोस्ट करना। प्रोपब्लिका के इस प्रोजेक्ट में एबीसी न्यूज नेटवर्क भी हिस्सेदार है। इसे पोलिटिकल एड कलेक्टर प्रोजेक्ट नाम दिया गया है।

Read more...

Search

मेरा ब्लॉग

blogerright

मेरी किताबें

  Cover

 buy-now-button-2

buy-now-button-1

 

मेरी पुरानी वेबसाईट

मेरा पता

Prakash Hindustani

FH-159, Scheme No. 54

Vijay Nagar, Indore 452 010 (M.P.) India

Mobile : + 91 9893051400

E:mail : prakashhindustani@gmail.com